Categories
India News

Watch Latest News In Super Fast Speed


For Latest News and Updates

ABP News uses cookie on this website to ensure a better User Experience, beautiful functionalities and to measure visitor behavior in order to improve the content.

By continuing to use this website, you agree to the use of these cookies.

Categories
India News

Former Facebook Employee Ready To Give Testimony Before Delhi Assembly Committee


नई दिल्ली: फेसबुक के खिलाफ फेसबुक के ही एक पूर्व कर्मचारी गवाही दे सकते हैं. मार्क एस लुकी नाम के फेसबुक के पूर्व कर्मचारी गवाही देने के लिए तैयार हो गए हैं. दिल्ली दंगों में फेसबुक की भूमिका पर आम आदमी पार्टी विधायक राघव चड्ढा की अध्यक्षता में बनी दिल्ली विधान सभा की शांति और सद्भाव समिति के समाने गवाही देंगे मार्क एस लुकी.

लुकी का दावा है कि फेसबुक अल्पसंख्यक समुदाय के हित में काम नहीं करता है. दावे के मुताबिक फेसबुक के काम करने का तरीका भ्रामक है. वो समाज में विभाजन पैदा करता है. फेसबुक लिंग जाति, धर्म, जातीयता के आधार पर अंतर करता है. मार्क एस लुकी ने नवंबर 2018 में फेसबुक को छोड़ दिया था, लुकी कल समिति के सामने पेश होंगे.

यह पहला मौका है जब अंतरराष्ट्रीय फेसबुक कर्मचारी भारत में समिति के सामने फेसबुक के नकाब को उठाने और पर्दे के पीछे की वास्तविकताओं को उजागर करने के उद्देश्य से आगे आया है. अभी तक समिति को फेसबुक के कामकाज का बाहर से अवलोकन कर रहे विशेषज्ञों से इनपुट मिले हैं. लुकी के माध्यम से समिति को फेसबुक की सूक्ष्मताओं से परिचित कराया जाएगा, विशेष रूप से ऐसे किसी व्यक्ति के जरिए जिसने बेहद नजदीक से काम किया हो.

कौन हैं मार्क एस लुकी?

फेसबुक इंक में 2017 से 2018 तक रहे मार्क एस लुकी डिजिटल रणनीतिकार, पूर्व पत्रकार और लेखक हैं. उन्होंने दुनिया के प्रभावशाली सामाजिक प्लेटफार्म फेसबुक, ट्विटर और रेडिट में मीडिया का नेतृत्व किया है. उन्होंने वाशिंगटन पोस्ट, सेंटर फॉर इन्वेस्टिगेटिव रिपोर्टिंग, द लॉस एंजिल्स टाइम्स और एंटरटेनमेंट वीकली की डिजिटल पहल का भी नेतृत्व किया है

पूर्व कर्मचारी मार्क लुकी ने फेसबुक के कामकाज को लेकर क्या दावा किया है?

फेसबुक अपने काम से समुदायों को बांटता है

फेसबुक पर जाति धर्म के आधार पर अंतर किया जाता है

अल्पसंख्यकों को भरोसा नहीं कि फेसबुक उनका भला चाहता है

संचार प्रक्रिया से अल्पसंख्यकों को बाहर रखा जा रहा है

फेसबुक पर अश्वेतों के साथ भेदभाव होता है

अश्वेतों के कंटेंट बिना नोटिस के फेसबुक से हटा दिए जाते हैं

दिल्ली: मामूली बात पर हुए विवाद में युवक की गई जान, पुलिस ने दो भाइयों को किया गिरफ्तार

Categories
India News

Siddaramaiah Claims BS Yediyurappa Will Be Removed From Post Of CM After Bihar Elections Results | बिहार चुनाव के नतीजे आने के बाद येदियुरप्पा को CM पद से हटा दिया जाएगा


बेंगलुरु: कांग्रेस के सीनियर नेता सिद्धारमैया ने रविवार को दोबारा दावा किया कि 10 नवंबर को बिहार चुनाव के नतीजे आने के बाद भारतीय जनता पार्टी कर्नाटक में मुख्यमंत्री बदल देगी. इससे कुछ दिन पहले मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा ने सिद्धारमैया के ऐसे ही दावों का खंडन किया था और गैर जिम्मेदाराना बयान करार दिया था.

येदियुरप्पा ने यह भी कहा था कि कर्नाटक विधानसभा की दो सीटों पर होने वाले उप चुनाव में कांग्रेस की हार होने के बाद पार्टी सिद्धारमैया को नेता प्रतिपक्ष के पद से हटा देगी. सिद्धारमैया ने कहा, “मुझे सूचना मिली है कि 10 नवंबर को बिहार चुनाव के नतीजे आने के बाद बदलाव होगा. परिवर्तन के लिए लंबे समय से बातचीत की जा रही है.”

शिवमोगा में उन्होंने संवाददाताओं से कहा कि बीजेपी में दो से तीन गुट हैं और बदलाव के लिए छह महीने से भी अधिक समय से बातचीत चल रही है. उन्होंने कहा, “मेरे पास जो सूचना है उसके मुताबिक केंद्रीय नेतृत्व भी बदलाव चाहता है क्योंकि इस सरकार में भ्रष्टाचार चरम पर है.”

इससे पहले भी सिद्धारमैया ने कहा था कि 10 नवंबर को उपचुनाव के नतीजे आने के बाद येदियुरप्पा को मुख्यमंत्री के पद से हटा दिया जाएगा. प्रदेश बीजेपी द्वारा इसका खंडन किये जाने के बावजूद अटकलें लगाई जा रही हैं कि 77 साल के येदियुरप्पा की आयु को देखते हुए उन्हें पद से हटाया जा सकता है. बता दें कि बिहार विधानसभा की 243 सीटों पर तीन चरणों में वोटिंग हुई. आखिरी चरण का मतदान सात नवंबर को संपन्न हुआ. नतीजे 10 नवंबर को घोषित किए जाएंगे.

Bihar Polls: स्ट्रांग रूम में कड़ी सुरक्षा में रखी गईं EVM, 55 मतगणना केंद्रों पर CCTV से निगरानी 

Categories
India News

दिल्ली: मामूली बात पर हुए विवाद में युवक की गई जान, पुलिस ने दो भाइयों को किया गिरफ्तार



<p style=”text-align: justify;”><strong>नई दिल्ली:</strong> राजधानी दिल्ली के अमर कॉलोनी इलाके में मामूली सी बात को लेकर हुए विवाद में एक युवक की जान चली गई. विवाद एक दुकान के सामने यूरीन पास करने को लेकर शुरू हुआ था, जिसके बाद इस मामले में लड़ाई शुरू हो गई और अमनदीप

Categories
India News

Virasat: बिहार की समृद्ध शैक्षिक विरासत..जहां तोते भी बोलते थे संस्कृत !



भारत का प्रमुख शिक्षा का केंद्र रहा है- बिहार. विश्व का पहला आवासीय नालंदा विश्वविद्यालय यहीं था. बिहार की शैक्षिक विरासत इतनी समृद्ध थी कि शंकराचार्य यहां शास्त्रार्थ के लिए आए थे. कहा जाता है कि यहां तोते भी संस्कृतल बोलना जानते थे.

Categories
India News

Drugs Case: फिल्म प्रोड्यूसर फिरोज नाडियाडवाला को NCB ने भेजा समन, पत्नी गिरफ्तार, पढ़ें कार्रवाई की पूरी डिटेल



<p style=”text-align: justify;”><strong>मुंबई:</strong> ड्रग्स मामले में जारी छानबीन में नारकोट‍िक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) ने बॉलीवुड निर्माता और निर्देशक फ‍िरोज नाड‍ियाडवाला के घर से ड्रग्स बरामद किए हैं. इस सिलसिले में एनसीबी ने फिल्म प्रोड्यूसर की पत्नी शबाना सईद को मुंबई स्थित उनके घर से दो गवाहों की मौजूदगी में

Categories
India News

Delhi Air Quality Amidst Stubble Burning In Severe Category, No Relief Is Expected


नई दिल्ली: पंजाब और आसपास के क्षेत्रों में पराली को कथित रूप से जलाए जाने के बीच रविवार को राष्ट्रीय राजधानी की वायु गुणवत्ता ‘गंभीर’ श्रेणी में दर्ज की गई. केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के मोबाइल ऐप ‘समीर’ के मुताबिक, दिल्ली का समग्र वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 426 दर्ज किया गया है जो ‘गंभीर’ श्रेणी में आता है.

पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के वायु गुणवत्ता निगरानी संगठन वायु गुणवत्ता प्रणाली एवं मौसम पूर्वानुमान व शोध (सफर) ने बताया कि स्थिति में तब तक सुधार होने की संभावना नहीं है जब तक कि पराली जलाने की घटनाओं में भारी कमी नहीं आती है.

सफर ने कहा कि सतही हवाएं शांत हो गई हैं जो अब तक मध्यम थी और अगले दो दिन तक इनके हल्का रहने का अनुमान है. यही प्रमुख कारण है कि तेजी से सुधार होने की संभावना नहीं है और सुधार तभी हो पाएगा जब पराली जलाने की घटनाओं में कमी आए.

सफर के मुताबिक, पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड और आसपास के इलाकों में शनिवार को पराली जलाने की घटनाएं 3780 थी. दिल्ली के पीएम 2.5 में इसकी हिस्सेदारी रविवार को अनुमानित तौर पर करीब 29 प्रतिशत रही. यह अनुमानित तौर पर शनिवार को 32 फीसदी थी.

सफर ने कहा कि वायु गुणवत्ता के मामूली रूप से और खराब होने और अगले दो दिन ‘गंभीर’ और ‘बहुत खराब’ श्रेणी में रहने की संभावना है.

उल्लेखनीय है कि 0 और 50 के बीच एक्यूआई को ‘अच्छा’, 51 और 100 के बीच ‘संतोषजनक’, 101 और 200 के बीच ‘मध्यम’, 201 और 300 के बीच ‘खराब’, 301 और 400 के बीच ‘बेहद खराब’ और 401 से 500 के बीच ‘गंभीर’ श्रेणी में माना जाता है.

दिल्ली में 35 निगरानी स्टेशनों में से 31 में एक्यूआई ‘ गंभीर’ श्रेणी में दर्ज किया गया है. जिन स्टेशनों में एक्यूआई ‘बहुत खराब’ श्रेणी में दर्ज किया गया है, उनमें लोधी रोड (333), एनएसआईटी द्वारका (377) और पूसा (374) शामिल है. उत्तर परिसर के आंकड़े उपलब्ध नहीं हैं.

एनसीआर क्षेत्र में भी एक्यूआई ‘गंभीर’ श्रेणी में दर्ज किया गया. गुड़गांव में एक्यूआई 434, गाजियाबाद में 456, नोएडा में 428 और ग्रेटर नोएडा में 440 दर्ज किया गया.

शुक्रवार को पराली जलाने की 4528 घटनाएं दर्ज की गई थी. केंद्र सरकार की दिल्ली के लिए वायु गुणवत्ता शीघ्र चेतावनी प्रणाली ने कहा है कि शहर की वायु गुणवत्ता के दिवाली पर भी ‘गंभीर’ श्रेणी में रहने के आसार हैं. शनिवार शाम को एक्यूआई 427 दर्ज किया गया था.

यह भी पढ़ें:

दिल्ली: मामूली बात पर हुए विवाद में युवक की गई जान, पुलिस ने दो भाइयों को किया गिरफ्तार

Categories
India News

Special Report On India And US Election Connection | Raaj Ki Baat | US Election 2020: Joe Biden से नए संबंध बनाने की तैयारी में जुटा भारत


अमेरिका में ट्रंप नतीजे मानने को तैयार नहीं हैं. ये दूसरे देश का आंतरिक मामला है. मगर बात महाशक्ति की है और अमेरिका की सियासत पूरी दुनिया को प्रभावित करती है और भारत उन मुल्कों में प्रमुख है. मौजूदा वैश्विक परिस्थितियों में अमेरिका में बदलाव के जो संकेत हैं, जाहिर है उसको लेकर भारत ने भी अपनी तैयारियां तत्काल प्रभाव से शुरू कर दी हैं.

 

Categories
India News

Delhi Reports 7745 New Coronavirus Cases And 77 Deaths


नई दिल्ली: राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में कोरोना के मामलों में उछाल देखी जा रही है. पिछले 24 घंटे में दिल्ली में कोरोना के 7745 नए केस सामने आए हैं. ये एक दिन में अब तक का सबसे ज्यादा आंकड़ा है. इस वायरस की वजह से 77 और लोगों की मौत हुई है. हालांकि इलाज के बाद रविवार को 6069 लोग रिकवर भी हुए हैं. दिल्ली सरकार की तरफ से जारी हेल्थ बुलेटिन में ये आंकड़े सामने आए हैं.

नए मामलों के सामने आने के बाद संक्रमण के मामले बढ़कर 4 लाख 38 हजार 529 हो गए हैं. इसमें से इलाज के बाद 3 लाख 89 हजार 683 रिकवर हो चुके हैं और अब तक कुल 6989 लोगों की मौत हो चुकी है. वहीं दिल्ली में एक्टिव केस की संख्या 41 हजार 857 है.

उधर रविवार को दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येन्द्र जैन ने कहा कि राजधानी में कोविड-19 का तीसरा दौर चरम पर है और मामलों की संख्या देखकर लगता है कि यह अब तक का सबसे बुरा चरण है. मंत्री ने कहा कि सरकार ने दिल्ली के अस्पतालों में कोविड-19 रोगियों के लिए बिस्तरों की संख्या बढ़ा दी है, लेकिन होटलों और बैंक्वेट हॉल की सेवाएं लेने की अभी कोई योजना नहीं है.

त्योहारी मौसम और बढ़ते वायु प्रदूषण के बीच दिल्ली में कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में तेजी से वृद्धि हुई है. शुक्रवार को दिल्ली में पहली बार कोविड-19 के 7,000 से अधिक मामले सामने आए. शनिवार को शहर में बीते चार महीने में सबसे अधिक 79 रोगियों की मौत हुई. राजस्थान के डूरंगपुर की आधिकारिक यात्रा पर आए सत्येंद्र जैन ने कहा कि कोविड-19 का पहला चरण 23 जून जबकि दूसरा दौर 17 सितंबर के आसपास चरम पर पहुंचा था.

पराली जलाने के बीच की दिल्ली की वायु गुणवत्ता ‘गंभीर’ श्रेणी में, जल्द राहत के आसार नहीं 



Categories
India News

क्य डॉनल्ड ट्रंप को तलाक देने वाली हैं पत्नी मेलानिया ? देखिए क्यों उठ रहे सवाल



एक तरफ अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में डोनाल्ड ट्रंप को जो बाइडेन ने करारी शिकस्त दी है, और अब अमेरिकी मीडिया में खबरें हैं कि ट्रंप की पत्नी मेलानिया बहुत जल्द उन्हें तलाक दे सकती हैं. डेली मेल के मुताबिक, मेलानिया चुनाव में हार के बाद ट्रंप का साथ छोड़