Categories
India News

Maharastra: Today Is The Anniversary Of The Government Formed For Three Days Last Year: Sanjay Raut, Reversing The Statement Of Raosaheb Danve | रावसाहेब दानवे के बयान पर संजय राउत का पलटवार, कहा


मुंबई: महाराष्ट्र में शिवसेना के राष्ट्रीय प्रवक्ता और राज्यसभा सांसद संजय राउत ने केंद्रीय मंत्री रावसाहेब दानवे के ‘BJP महाराष्ट्र में अगले 2-3 महीनों में सरकार बना लेगी’ वाले बयान पर पलटवार किया है. संजय राउत ने बीजेपी तंज कसते हुए कहा है कि पिछले साल जो तीन दिन की सरकार बनी थी, उसकी आज पुण्यतिथि है.

संजय राउत ने कहा, ”हमारी सरकार चार साल और पूरा करेगी. विपक्षी नेता निराशा में ऐसी बात कह रहे क्योंकि उनके सभी प्रयास फेल हो गए हैं. वो भी अच्छे से जानते हैं कि महाराष्ट्र के लोग इस सरकार के साथ हैं.”

केंद्रीय मंत्री रावसाहेब दानवे ने दिया था बयान 

इससे पहले सोमवार को केंद्रीय मंत्री रावसाहेब दानवे ने कहा कहा था, “बीजेपी कार्यकर्ताओं को यह नहीं सोचना चाहिए कि हमारी सरकार नहीं बन रही है. हम अगले 2-3 महीने में सरकार बना लेंगे. हमने अपने गणित पर काम कर लिया है. हम विधान परिषद का चुनाव हो जाने का इंतजार कर रहे हैं.”

दानवे का यह बयान ऐसे वक्त पर आया है जब एनसीपी नेता अजीत पवार के समर्थन के बाद कुछ समय के लिए बनी देवेन्द्र फडणवीस सरकार का एक साल पूरा हुआ है. पिछले साल इसी दिन देवेन्द्र फडणवीस ने मुंबई स्थित राजभवन में मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी, जबकि अजीत पवार को डिप्टी सीएम पद की शपथ दिलाई गई थी.

यह भी पढ़ें.



Categories
India News

PM Modi meeting Live Updates discussion on Corona Vaccine preparations also going on


PM-States CM Meeting Updates: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित आठ राज्यों के सीएम से वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के जरिए बात कर रहे हैं. इनमें महाराष्ट्र, केरल, पश्चिम बंगाल, हरियाणा, गुजरात, दिल्ली आदि राज्यों के मुख्यमंत्री जुड़े हैं. इस दौरान कोरोना की वर्तमान स्थिति की समीक्षा और वैक्सीन के डिस्ट्रीब्यूशन की रणनीति को लेकर मुख्यमंत्रियों और राज्यों व केंद्र शासित प्रदेशों के अन्य प्रतिनिधियों के साथ भी चर्चा की जा रही है.

 

पीएम मोदी कोरोना की स्थिति की समीक्षा के लिए अब तक कई बार राज्यों के साथ बैठक कर चुके हैं. पीएम राज्यों से कोरोना केस की जानकारी, बचाव के लिए अपनाए जा रहे तरीके व केंद्र के सहयोग को लेकर चर्चा कर रहे हैं. अन्य राज्यों के सीएम के साथ दोपहर 12 बजे के बाद चर्चा करेंगे.

Categories
India News

Explainer: दिल्ली में कोरोना विस्फोट, हर घंटे में हो रही हैं पांच मौत, आंकड़ों की जुबानी जानें बेकाबू हालात



<p style=”text-align: justify;”><strong>नई दिल्लीः</strong> राजधानी दिल्ली कोरोना का कहर झेल रही है और हालात इतने बेकाबू हो गए हैं कि यहां हर घंटे में पांच लोग कोविड-19 से अपनी जिंदगी की जंग हार रहे हैं. कल दिल्ली में कोरोना वायरस के कारण 121 लोगों की मौत हुई और इस

Categories
India News

Coronavirus India: PM Modi To Review COVID Situation With CMs Of States Today


नई दिल्ली: देश में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के बीच आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक करेंगे. ये बैठक सुबह और दोपहर में दो चरणो में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए होगी. पहले हिस्से की बैठक सुबह 10 बजे होगी, इसमें उन 8 राज्यों के मुख्यमंत्री ने हिस्सा लेंगे, जहां पर कोरोना का कहर सबसे ज्यादा है. यह राज्य महाराष्ट्र, केरल, दिल्ली, पश्चिम बंगाल, छत्तीसगढ़,हरियाणा, राजस्थान और हिमाचल प्रदेश होंगे. इन 8 राज्यों की बैठक में प्रधानमंत्री कोरोना से बचाव के उपाय और प्रबंधन पर बात करेंगे.

वर्तमान स्थिति की समीक्षा बैठक करेंगे मोदी

इसके बाद दोपहर 12 बजे से बाकी बचे राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों और प्रशासकीय प्रमुखों के साथ बैठक होगी. सूत्रों के मुताबिक पीएम मोदी त्योहारी मौसम के बाद आई कोरोना की लहर और वर्तमान स्थिति की समीक्षा बैठक में करेंगे. साथ ही साथ कोरोना के टीका वितरण के प्रबंधन को लेकर राजयों के मुख्य मंत्रियों और केंद्र शासित प्रदेशों के प्रमुखों के साथ चर्चा करेंगे.

सूत्रों के मुताबिक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का इन बैठकों में जोर इस बात पर होगा कि कोरोना का टीका अगले दो महीने के भीतर जनसामान्य के टीकाकरण के लिए उपलब्ध होगी. ऐसी सूरत में तब तक कोरोना से बचाव के उपायों का कड़ाई से पालन किया जाए. कोरोना से बचाव के उपाय में लापरवाही को रोकने के लिए कड़े कानूनी उपाय और सख्ती बरतनी पड़े तो उससे जुड़े उपाय भी किये जाए.

अगले साल जुलाई के अंत तक आ सकती है वैक्सीन

पीएम मोदी का जोर “जब तक दवाई नहीं, तब तक ढिलाई नहीं” की नीति पर होगा. प्रधानमंत्री तमाम राज्यों के मुख्यमंत्रियों और केंद्र शासित प्रदेशों के प्रशासनिक प्रमुखों को यह भी बताएंगे वैक्सीन की उपलब्धता होने पर उसके भंडारण, ट्रांसपोर्टेशन और टीकाकरण के प्रबंधन के लिए किस तरह से केंद्र सरकार ने तैयारियां की हैं और उन एसओपी का पालन कर राज्यों को कैसे अपनी भूमिका निभानी है. केंद्र सरकार की योजना अगले साल जुलाई के अंत तक 30 करोड़ लोगों को कोरोना के टीका लगाने की है. इसके लिए प्रधानमंत्री कार्यालय ने देश में होने वाले चुनाव की तर्ज पर टीकाकरण कार्यक्रम चलाने की योजना बनाई है.

बता दें कि पीएम मोदी ने बीते शुक्रवार को कोरोना की वैक्सीन के आपात इस्तेमाल, उसके निर्माण और संचालन के विभिन्न पहलुओं पर विस्तार से बैठक की थी, इस दौरान प्रधानमंत्री ने निर्देश दिए थे कि वैक्सीन के विकास और विनिर्माण की सुविधा के लिए हर संभव मदद मुहैया कराई जाए, सरकार ने कोरोना वैक्सीन के रिसर्च और डेवलपमेंट के लिए ‘कोविड सुरक्षा मिशन’ के तहत 900 करोड रुपये की सहायता भी प्रदान की है

भारत में चल रहा है कोरोना की पांच वैक्सीन का ट्रायल 

गौरतलब है कि भारत में कोरोना की पांच वैक्सीन का ट्रायल चल रहा है जिसमें से चार वैक्सीन दूसरे और तीसरे चरण में है जबकि एक वैक्सीन पहले और दूसरे फेज में है और इसलिए प्रधानमंत्री द्वारा बुलाई गई बैठक कोरोना काल के अगले चरण के लिए बेहद महत्वपूर्ण हो जाती है.

यह भी पढ़ें-

राजधानी दिल्ली में नहीं थम रहा कोरोना का कहर, लगातार दूसरे दिन 121 लोगों की मौत

इमरजेंसी में साल के आखिर तक 250 रुपये में मिल सकती है कोरोना वैक्सीन: अदार पूनावाला

Categories
India News

BJP President JP Nadda To Visit Bengal In December


कोलकाता: भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा 2021 में होने वाले पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनावों से पहले पार्टी के संगठन का जायजा लेने के लिए दिसंबर के दूसरे हफ्ते में राज्य का दौरा करेंगे. पार्टी सूत्रों ने सोमवार को यह जानकारी.

प्रदेश बीजेपी के सूत्रों ने कहा कि देर रात के घटनाक्रम में यह तय किया गया कि जेपी नड्डा 7 से 10 दिसंबर के बीच बंगाल की दो दिवसीय यात्रा करेंगे.

राज्य बीजेपी के एक नेता ने कहा, ‘‘तारीखों को अभी अंतिम रूप नहीं दिया गया है. यह अगले कुछ दिनों में तय किया जाएगा. संभावित तारीखें 7-10 दिसंबर के बीच होंगी.’’

बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष ने पिछले हफ्ते कहा था कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा अगले साल पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव तक हर महीने राज्य का दौरा करेंगे. बता दें कि 294 सदस्यीय राज्य विधानसभा का चुनाव अगले साल अप्रैल-मई में होने वाला है.

गौरतलब है कि बीजेपी ने पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनावों के लिए अभी से तैयारियां शुरू कर दी हैं. केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह और पश्चिम बंगाल के प्रदेश अध्यक्ष राज्य में बीजेपी की सरकार आने का दावा भी कर रहे हैं. शाह ने इस बार बंगाल में 150 से ज्यादा सीटें जीतने का दावा किया है.

यह भी पढ़ें- 

राजधानी दिल्ली में नहीं थम रहा कोरोना का कहर, लगातार दूसरे दिन 121 लोगों की मौत

रिश्तों को पटरी पर लाने की कवायद में दो दिनी दौरे पर काठमांडू जाएंगे विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला

Categories
India News

In Delhi Minimum Temperature Will Increase In Next 2-3 Days, Due To Deterioration In Air Quality, Pollution May Increase Ann


नई दिल्ली: राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में इस साल नवंबर में पड़ने वाली सर्दी ने पिछले लगभग 17 सालो के रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं. दिल्ली में सुबह के समय ठंड की लहर लगातार बढ़ती जा रही है. रविवार को दिल्ली में न्यूनतम तापमान 6.9 डिग्री हो गया था, जिसने पिछले 17 सालों के रिकॉर्ड तोड़े, क्योंकि नवंबर में इतनी ठंड पिछले सालों के मुकाबले कभी नहीं पड़ी. तो वहीं सोमवार को तापमान में और गिरावट दर्ज की गई. तापमान 6.3 डिग्री रहा. लेकिन मौसम को जानकारों ने अब आने वाले 2-3 दिनों में न्यूनतम तापमान में बढ़ोतरी की उम्मीद जताई है.

मौसम विभाग से सोमवार को मिली जानकारी के मुताबिक राष्ट्रीय राजधानी में न्यूनतम तापमान में दो से तीन डिग्री की वृद्धि होने की संभावना है. हालांकि, हवा की गुणवत्ता में गिरावट हो सकती है, क्योंकि तापमान में वृद्धि के साथ हवा की गति कम हो जाएगी. अगले 2-3 दिनों में तापमान में बढ़ोतरी होने से तापमान 8-9 डिग्री सेल्सियस तक जाएगा. इसके पीछे मुख्य कारण पश्चिमी विक्षोभ ( वेस्टर्न डिस्टर्बेंस) है जो उत्तर पश्चिम भारत को प्रभावित कर रहा है. वहीं अगर हवा की गति कम होती है तो दिल्ली में प्रदूषण भी बढ़ सकता है. पिछले कुछ दिनों से हवा की गति तेज़ होने से प्रदूषण में गिरावट आई है. लेकिन हवा की रफ्तार कम होने से प्रदूषण बढेगा, जिससे हवा की गुणवत्ता और खराब हो सकती है.

मौसम विभाग के अनुसार, 20-22 नवंबर तक हवा की गति अच्छी थी. यह लगभग 20 किमी प्रति घंटे था. हवा की गति आने वाले दिनों में लगभग 6 किमी प्रति घंटे तक कम हो जाएगी, जिससे हवा की गुणवत्ता बिगड़ जाएगी. सुबह के समय ठंड की लहरों के पीछे प्रमुख कारण बादल ना होना है. हालांकि तापमान में बढ़ोतरी के बावजूद सबह में शीत लहर बनी रहेगी.

अगर आने वाले महीनों की बात करें तो अनुमान यह भी है कि दिसंबर और जनवरी में न्यूनतम तापमान में और गिरावट आएगी और कुछ पुराने रिकॉर्ड टूट सकते हैं. अगर पिछले साल की बात करें तो इस साल की तरह अक्टूबर-नवंबर में ठंड नहीं थी. इस साल अक्टूबर 58 साल में सबसे ठंडा महीना था और नवंबर भी ठंडा हो रहा है. अक्टूबर और नवंबर में रिकॉर्ड टूट गया है, न्यूनतम तापमान 2 डिग्री से नीचे है और जनवरी में सर्दी के रिकॉर्ड टूट सकते हैं.

ये भी पढ़ें- 

दिल्ली-एनसीआर में प्रदूषण काबू करने के लिए नीतियां बनाएंगे: वायु गुणवत्ता आयोग

बिहार: मोतिहारी में अपराधियों ने पैक्स अध्यक्ष को मारी गोली, हालत गंभीर, जांच में जुटी पुलिस

Categories
India News

Home Minister Amit Shah Inaugurated Mobile Covid Test Van Ann


नई दिल्ली: केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने मोबाइल COVID-19 RT-PCR लैब का उद्घाटन किया. इसे संयुक्त रूप से SpiceHealth और ICMR द्वारा तैयार किया गया है. वैन के अंदर कोविड की जांच की सारी सुविधाएं उपलब्ध कराई गई हैं, जो दिल्ली के अलग अलग इलाको में जाकर लोगों को उनके ही इलाको में फ्री में जांच की सुविधा

प्रदान करेगी.

पहले चरण में 10 मोबाइल वैन शुरू की जा रही हैं. उद्घाटन के मौके पर स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन और आईसीएमआर के महासचिव डीएचआर और महानिदेशक डॉ बलराम भार्गव, स्पाइसजेट के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक अजय सिंह और स्पाइसहेल्ट के सीईओ अवनी सिंह मौजूद रहे.

दरअसल, गृहमंत्री अमित शाह ने 15 नवंबर को गृहमंत्रालय में एक अहम बैठक ली थी. इस बैठक में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल समेत स्वास्थ्य मंत्री व अन्य मौजूद रहे. बैठक के दौरान गृहमंत्री ने फैसला लिया था कि हॉटस्पॉट वाले इलाके में मोबाइल वैन के जरिये आरटी पीसीआर की जांच की जाए. इसे ध्यान में रखते हुए आईसीएमआर और

स्पाइस हेल्थ ने मिलकर मोबाइल कोविड जांच वैन तैयार की है.

यह परीक्षण प्रयोगशाला और ऐसी और प्रयोगशालाएं जिन्हें स्थापित करने की योजना है. COVID-19 परीक्षण करने में मदद मिलेगी. लैब NABL द्वारा मान्यता प्राप्त है और  ICMR द्वारा अनुमोदित है. COVID-19 जांच के लिए RT-PCR जांच सबसे निर्णायक और महत्वपूर्ण है. इस जांच के लिए 499 रुपये निर्धारित किये गये हैं, जिसे आईसीएमआर वहन करेगा. यह पहल COVID-19 परीक्षण को आम व्यक्ति के लिए सस्ती और अधिक सुलभ बनाने की दिशा में एक कदम है.

माना जा रहा है कि जांच की रिपोर्ट 6 से 8 घंटों के भीतर उपलब्ध हो जाएगी. पहले चरण में 10 लैब स्थापित करने की योजना है. शुरुआत में, प्रत्येक प्रयोगशाला प्रति दिन 1,000 नमूनों का परीक्षण करने में सक्षम होगी और परीक्षण धीरे-धीरे प्रति प्रयोगशाला प्रति दिन 3,000 नमूनों तक बढ़ जाएगा.

ये भी पढ़ें-

दिल्ली में अगले 2-3 दिनों में न्यूनतम तापमान में होगी बढ़ोतरी, हवा की गुणवत्ता में गिरावट आने से से बढ़ सकता है प्रदूषण

बिहार: मोतिहारी में अपराधियों ने पैक्स अध्यक्ष को मारी गोली, हालत गंभीर, जांच में जुटी पुलिस